Hindi Shayari on Love – चाँद मेरा खिलौना

पागल दिल ने कहा चाँद मेरा खिलौना

दिला वर्ना छोड़ दूंगा ज़िस्म का बिछौना

हिल गया मैं सुनकर उसकी ऐसी अजीब बात

बड़े प्यार से समझाता रहा मैं उसे सारी रात

मैं थक गया फुसलाते, वो नहीं माना

पागल दिल ने कहा चाँद मेरा खिलौना

दिला वर्ना छोड़ दूँगा ज़िस्म का बिछौना

Hindi Shayari On Love

मैंने चाँद तक नैनन की सीढ़ी बना डाली

नींद हराम आंखें ख़ूब देती रहीं गाली

जैसे ही दिल चाँद छूने चला, बादल गुर्राया

पलकों में भरकर कहीं चाँद को छुपाया

बड़ी कशमकश से पूरा हुआ यह सपना

पागल दिल ने कहा चाँद मेरा खिलौना

दिला वर्ना छोड़ दूँगा ज़िस्म का बिछौना

Leave a Comment