Sabse Swachh Railway Station: देखेंगे, तो देखते रह जाएंगे!

Sabse Swachh Railway Station: प्राकृतिक और आर्टिफिशियल सुंदरता, हसीन वादियां, नर्मदा नदी का अहसास और बेहतर स्वच्छता का ख्याल, एकता नगर रेलवे स्टेशन को सबसे स्वच्छ रेलवे स्टेशन और सबसे सुंदर पर्यटन स्थल (Sabse Sundar Paryatan Sthal) बनाता है।   

Sabse Swachh Railway Station: एकता नगर रेलवे स्टेशन को जब पहली बार देखा, तो देखता ही रह गया। वाह! गज़ब का लुक है। शानदार डिजाइन, भव्य सुंदरता है।

चारों ओर खुशनुमा माहौल और रौनकें हैं। स्टेशन के सामने हरियाली का गार्डन है। स्टेशन के भीतर बेजोड़ स्वच्छता है।

ऐसा स्टेशन क्या कहीं हो सकता है? एकता नगर रेलवे स्टेशन, गुजरात के नर्मदा जिले में स्थित है।

पहले इसे केवड़िया रेलवे स्टेशन के नाम से जाना था।

यह एकता का प्रतीक ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ को जोड़ने वाला स्टेशन है।

इसलिए, 11 जनवरी, 2022 को रेल मंत्रालय द्वारा केवड़िया रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर एकता नगर रेलवे स्टेशन रखा गया।

यह रेलवे स्टेशन केवड़िया (छोटा शहर) से 7 किमी दूर है।

नर्मदा नदी के सामने। लेकिन, नदी और ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ से 5 किमी की दूरी पर स्थित है।

शाम और रात के वक़्त इस स्टेशन की सुंदरता देखते ही बनती है।

बिजली की रोशनी से चमकता स्टेशन का हर कोना लाजवाब लगता है।

रंग-बिरंगी लाइटों के बीच स्टेशन बिल्डिंग की बनावट कमाल की लगती है।

बिल्डिंग के अग्रभाग पर लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल तिरंगे की लाइट में नर्मदा नदी की ओर ताकते दिखाई देते हैं।

दूर से ही पारंपरिक भारतीय वेशभूषा में गर्व से खड़े ‘एकता के प्रतीक, देश के सरदार’ दिख जाते हैं।

एकता नगर रेलवे स्टेशन की तस्वीर- gyanmanch के सौजन्य से। Sabse Swachh Railway Station, Sabse Sundar Paryatan Sthal @gyanmanch
EKNR की झलक – gyanmanch के सौजन्य से। Sabse Swachh Railway Station:

Sabse Sundar Paryatan Sthal:

एकता नगर रेलवे स्टेशन पर्यटन अनुकूल भारत का पहला ग्रीन बिल्डिंग सर्टिफिकेट वाला रेलवे स्टेशन है।

इसके निर्माण का मुख्य उद्देश्य ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ तक पर्यटकों की पहुंच आसान बनाना है।

इस स्टेशन की बिल्डिंग में तीन लेवल हैं। पहले दो फ्लोर पर यात्री संबंधी सुविधाएं हैं।

तीसरी मंजिल पर एक भव्य आर्ट गैलरी है।

यात्री और दिव्यांगजन अनुकूल सुविधाएं हैं।

इस स्टेशन पर तीन प्लेटफॉर्म और चार ट्रैक हैं। स्टेशन कोड EKNR है।

यह पश्चिम रेलवे ज़ोन के वडोदरा डिवीजन के तहत आता है।  

बेहतर पार्किंग, बेहतर पहुंच मार्ग, सड़क से वेल कनेक्टेड, सुरक्षित प्रवेश और निकासी मार्ग हैं। 

15 दिसंबर, 2018 को भारत के पूर्व राष्ट्रपति, राम नाथ कोविन्द ने इस स्टेशन के निर्माण की नींव रखी थी।

उद्घाटन 17 जनवरी, 2021 को किया गया था।

यह आलीशान रेलवे स्टेशन, सिर्फ़ केवड़िया ही नहीं, बल्कि गुजरात और भारत की भी शान है।

नेचुरल और आर्टिफिशियल हरियाली से सजा गार्डन पर्यटकों और यात्रियों का मन मोह लेता है।

न चाहते हुए भी मुंह से निकल जाता है “वाह! क्या स्टेशन है!”

रात के समय गार्डन में छोटे-छोटे खंभों में जलते डिजाइन वाले बल्ब, खिले हुए फूलों की और रौनक बढ़ाते हैं।

गार्डन स्टेशन बिल्डिंग से बाहर निकलते ही दिखाई देता है।

अक्सर पैसेंजर इस गार्डन में सेल्फी लेते और अलग-अलग पोज में फोटो खींचते दिखाई देते हैं।

गार्डन एक कोने से दूसरे कोने तक फैला हुआ है। चलने के लिए बेहतरीन रास्ते हैं।

बैठने के लिए चबूतरे हैं। कुछ पैसेंजर घास पर आराम फरमाते दिख जाएंगे।

रेल यात्री दिल वंडरफुल करने वाले इस गार्डन में घंटों बैठे रहते हैं।

ट्रेन का इंतजार भी उसी गार्डन में मन बहलाकर करते हैं।

एकता नगर रेलवे स्टेशन की तस्वीर- gyanmanch के सौजन्य से। 
Sabse Swachh Railway Station, Sabse Sundar Paryatan Sthal @gyanmanch
EKNR – मेन रोड की झलक – gyanmanch के सौजन्य से।

रात को चमकने वाला स्टेशन – एकता नगर रेलवे स्टेशन

चलिए जानते हैं कि यह Sabse Sundar Paryatan Sthal क्यों है?

रात के वक़्त एकता नगर रेलवे स्टेशन दूर से चमकता हुआ दिखाई देता है। जैसे सतरंगी सितारों की दुनिया।

रेलवे स्टेशन परिसर के सामने मुख्य सड़क है। बेहद लंबी-चौड़ी और मखमली! उम्मीद से परे क्लीन! गंदगी का कहीं कोई नामोनिशान नहीं। सड़क के किनारे-किनारे खंभों पर चमकते सितारे आकर्षित करते हैं।

स्टेशन के सामने सड़क पर एक भी दुकान नहीं मिलेगी। किसी भी तरह की कोई दुकान नहीं।

लेकिन, सड़क के उस पार शानदार होटल मिल जाते हैं।

पेट-पूजा के लिए स्टेशन से थोड़ी दूर पर मैकडॉनल्ड्स जैसे अन्य फास्ट-फूड रेस्टोरेंट मौजूद हैं।

स्टेशन पर टिकट बुकिंग काउंटर के अलावा सेल्फ बुकिंग कियोस्क की सुविधा मौजूद है।

प्लेटफॉर्म पर खानपान स्टॉल, वाटर कियोस्क और बैठने के लिए बेंच की सुविधा है।

लगभग हर बेंच के करीब चार्जिंग पॉइंट है।

प्लेटफॉर्म पर लेडीज और जेंट्स टॉयलेट सुव्यवस्थित ढंग से बने हैं। थोड़ी-थोड़ी दूरी पर कूड़ेदान हैं।

EKNR प्लेटफॉर्म की झलक – gyanmanch के सौजन्य से।
प्लास्टिक बोतल मुक्त स्टेशन – एकता नगर रेलवे स्टेशन

प्लेटफॉर्म पर जीएसीएल एजुकेशन सोसायटी द्वारा स्थापित ‘प्लास्टिक बॉटल रिसायकलिंग मशीन’ है।

जिसकी विशेषता है:-

  • 13 क्यूबिक यार्ड लैंडफिल स्पेस की बचत
  • 43.2 मीट्रिक टन CO2 एमिशन में कमी
  • 1,000 लीटर क्रूड ऑयल की बचत
  • प्रतिकिलो वेस्ट रिसायकलिंग में 5-6 लीटर पानी की बचत

खाली पानी बोतल मशीन में रिसायकल करने वाले पैसेंजर को शॉपिंग वाउचर मिलता है।

इस तरह यह प्लास्टिक बॉटल रिसायकलिंग मशीन, एकता नगर रेलवे स्टेशन पर स्वच्छता और पर्यावरण को बढ़ावा दे रही है।

एकता नगर रेलवे स्टेशन से आगमन और प्रस्थान वाली ट्रेनें  
  • 12927/12928 एकता नगर-दादर सुपरफास्ट एक्सप्रेस
  • 20903/20904 एकता नगर-वाराणसी महामना एक्सप्रेस
  • 20905/20906 एकता नगर-रीवा महामना एक्सप्रेस
  • 20919/20920 एकता नगर-चेन्नई सेंट्रल सुपरफास्ट एक्सप्रेस
  • 20945/20946 एकता नगर-हज़रत निज़ामुद्दीन गुजरात संपर्क क्रांति एक्सप्रेस
  • 20947/20948 एकता नगर-अहमदाबाद जन शताब्दी एक्सप्रेस
  • 20949/20950 एकता नगर-अहमदाबाद जन शताब्दी एक्सप्रेस
  • 69201/69202 एकता नगर-प्रतापनगर मेमू
  • 69203/69204 एकता नगर-प्रतापनगर मेमू
  • 69205/69206 एकता नगर-प्रतापनगर मेमू

EKNR का पता

  • सरदार सरोवर रिसोर्ट के अपोजिट, एकता द्वार के निकट, एकता नगर (केवड़िया), जिला नर्मदा, राज्य गुजरात, देश भारत।   

EKNR – ट्रेन संबंधी अधिक जानकारी के लिए यह भी पढ़ें: https://gyanmanch.in/?p=507&preview=true&_thumbnail_id=510

फैक्ट और फिगर सोर्स

1 thought on “Sabse Swachh Railway Station: देखेंगे, तो देखते रह जाएंगे!”

Leave a Comment