Hindi Kavita 2024: नया साल, नई कविता

Hindi Kavita 2024

Hindi Kavita 2024: साल के नए अवसर पर पेश है 2024 की सबसे नई कविता। जबसे तुम्हें चाहा हैपल-पल कटे रतियाजब-जब लगे अखियांनींद चुराए तेरी बिंदियाजबसे तुम्हें मांगा हैरुक-रुक चले दिनवाना भूख-प्यास लगेबुझा-बुझा रहे दिलवा। अब तेरे आने के सिवादेखता नहीं रास्तादुनिया से तोड़ा नातारखता नहीं वास्तामन मोर बन नाचे जब देखूं तेरी सुरतियाजबसे तुम्हें … Read more