UCC Kya Hai Hindi: अन्य राज्यों के लिए मिसाल उत्तराखंड

UCC Kya Hai Hindi । Uttarakhand Uniform Civil Code । About UCC Uttarakhand In Hindi । Uttarakhand UCC Hindi News । Saman Nagrik Sanhita Matlab

Uttarakhand UCC Hindi News: 5 फरवरी, 2024 को उत्तराखंड की विधानसभा द्वारा ‘उत्तराखंड यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uttarakhand Uniform Civil Code)’ के ड्राफ्ट पर मुहर लगने की संभावना जताई जा रही है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के अनुसार 2 फरवरी, 2024 को विशेषज्ञ समिति अपनी फाइनल रिपोर्ट सौंपेगी।

5 फरवरी, 2024 को उत्तराखंड (Uttarakhand) भारत का ऐसा राज्य बनने जा रहा है, जहां समान नागरिक संहिता (Uniform Civil Code) लागू हो रही है।

Uttarakhand UCC Hindi News: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि जैसे ही 2 फरवरी को समिति अपना फाइनल ड्राफ्ट सौंपेगी, उसे आगामी विधानसभा सत्र में लागू कर दिया जाएगा।

मीडिया के साथ बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 5 फरवरी को विधानसभा का सत्र बुलाया गया है।

इसी सत्र में समान नागरिक संहिता यानी UCC को लागू करने का विधेयक भी पास किया जाएगा।

यदि 5 फरवरी को समान नागरिक संहिता (Uniform Civil Code) लागू हो जाती है तो ऐसा करने वाला उत्तराखंड देश का पहला राज्य बन जाएगा।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट एक्स पर इस बात की पुष्टि करते हुए कहा-

“समान नागरिक संहिता (Uniform Civil Code) का ड्राफ्ट तैयार करने के लिए गठित कमेटी 2 फरवरी को ड्राफ्ट प्रदेश सरकार को सौंपेगी।

हम देवभूमि उत्तराखंड (Uttarakhand) के मूल स्वरूप को बनाए रखने के लिए संकल्पित हैं।”

इससे पहले 29 जनवरी, 2024 को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट एक्स पर लिखा-“आदरणीय प्रधानमंत्री श्री @narendramodi जी के ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के विजन और चुनाव से पूर्व उत्तराखण्ड की देवतुल्य जनता के समक्ष रखे गए संकल्प एवं उनकी आकांक्षाओं के अनुरूप हमारी सरकार प्रदेश में समान नागरिक संहिता लागू करने हेतु सदैव प्रतिबद्ध रही है।

यूनिफॉर्म सिविल कोड का मसौदा तैयार करने के लिए बनी कमेटी 2 फरवरी को अपना ड्राफ्ट प्रदेश सरकार को सौंपेगी और हम आगामी विधानसभा सत्र में विधेयक लाकर समान नागरिक संहिता को प्रदेश में लागू करेंगे।”

Saman Nagrik Sanhita Matlab: यूसीसी (UCC) का फुल फॉर्म होता है यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uniform Civil Code), जिसे हिंदी में समान नागरिक संहिता (Saman Nagrik Sanhita) कहा जाता है।

यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uniform Civil Code) या समान नागरिक संहिता (Saman Nagrik Sanhita) एक ऐसा कानून है, जो देश में रहने वाले सभी धर्मों, समुदायों और नागरिकों को बराबरी का अधिकार देता है।

आसान शब्दों में कहा जाए तो हर धर्म और हर समुदाय के लिए एक समान कानून।

यानी एक ही कानून देश में रहने वाले सभी लोगों पर लागू होता है।

जिसे ‘एक राष्ट्र-एक कानून’ के नाम से भी जाना जा सकता है।

यह भी पढ़ें: गोबरधन में छुपा है असली धन

Saman Nagrik Sanhita Matlab: समान नागरिक संहिता पूरे देश के लिए सिर्फ़ ‘एक समान कानून’ ही नहीं, बल्कि सभी धार्मिक समुदायों के लिए विवाह, तलाक, बच्चा गोद, आदि जैसे कानूनों में ‘एक समान स्थिति’ प्रदान करती है।

About UCC Uttarakhand In Hindi: उत्तराखंड यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uttarakhand Uniform Civil Code) के ड्राफ्ट में समान कानून की बात कही गई है।

जिसमें महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा, विकास और सशक्तिकरण का विशेष रूप से ख्याल रखा गया है।

बताया जा रहा है कि विवाह, तलाक, माता-पिता का भरण-पोषण, बच्चा गोद लेने और संपत्ति-विरासत संबंधित मामलों में एक समान कानून लागू होगा।

वहीं जाति, जेंडर और संपत्ति में महिला अधिकार संबंधित मामलों में भी सभी धर्मों पर ‘एक समान कानून’ लागू होगा।

उत्तराखंड समान नागरिक संहिता (Saman Nagrik Sanhita) के ड्राफ्ट में इस बात का खासतौर पर ध्यान रखा गया है कि ‘लिव-इन रिलेशनशिप’ में रहने वाले लोगों को भी रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा।

1.समाज के कमजोर, गरीब और संवेदनशील वर्ग को सुरक्षा प्रदान करना एवं सशक्त बनाना।
2.महिलाओं, बच्चों, वृद्धों और अल्पसंख्यकों सहित हर पिछड़े वर्ग को सामाजिक सुरक्षा के साथ विकास की मुख्य-धारा से जोड़ना।
3.एक समान कानून के जरिए देश में एकता, अखंडता और राष्ट्रवाद की भावना को बढ़ावा देना।
4.विवाह, तलाक, विरासत और उत्तराधिकार सहित विभिन्न मामलों के लिए एक समान कानून तैयार करना।

About UCC Uttarakhand In Hindi: देवभूमि उत्तराखंड की जनता से किए अपने वादे को निभाते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड में समान नागरिक संहिता (Saman Nagrik Sanhita) लागू करने के लिए हरी झंडी दिखा दी है।

प्रदेश में समान नागरिक संहिता यानी यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uniform Civil Code) लागू करने से पहले मुख्यमंत्री ने राज्य में रहने वाले लोगों के व्यक्तिगत मामलों को नियंत्रित करने वाले सभी संबंधित कानूनों की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट की सेवानिवृत्त न्यायाधीश रंजना प्रकाश देसाई की अध्यक्षता में विशेषज्ञों की एक समिति का गठन किया था।

साथ ही समान नागरिक संहिता (Saman Nagrik Sanhita) प्रदेश में सुचारू रूप से लागू करने और उत्तराखंड की जनता से राय व सुझाव लेने के लिए एक विशेष पोर्टल की शुरुआत की गई।

पोर्टल के लांच होते ही प्रदेशवासियों को इस प्रक्रिया में भाग लेने और प्रोत्सहित करने के लिए एक करोड़ लोगों को एसएमएस और व्हाट्सऐप के जरिए संदेश भेजे गए।

पोर्टल शुरू होने के बाद पूर्व जस्टिस देसाई ने प्रदेश की जनता से अपील करते हुए कहा था कि “समान नागरिक संहिता (Saman Nagrik Sanhita) का मसौदा तैयार करने के लिए हमें सबका सहयोग चाहिए।

हम चाहते हैं कि लोग पोर्टल पर आकर अपने विचार, सुझाव, आपत्तियां और शिकायतें भी दें।

इससे हमें समान नागरिक संहिता का मसौदा तैयार करने में मदद मिलेगी।”

यह भी पढ़ें: स्वर्ग धरती पर

विशेषज्ञ समिति का उद्देश्य विवाह, तलाक, संपत्ति का अधिकार जैसे व्यक्तिगत मुददों पर जनता से राय और सुझाव लेना था, जिससे समिति अपना काम अच्छी तरह से कर सके।

Uttarakhand UCC Hindi News: समान नागरिक संहिता (Saman Nagrik Sanhita) कानून का मसौदा उत्तराखंड की जनता के विचारों और सुझावों पर तैयार किया गया है।

गठित विशेषज्ञ समिति ने यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uniform Civil Code) कानून का मसौदा तैयार करने के लिए लोगों की राय लेने हेतु विशेष पोर्टल शुरू किया है।

समान नागरिक संहिता (Saman Nagrik Sanhita) में विभिन्न क्षेत्रों के समुदायों की पुरातन परंपराओं और रीति-रिवाजों पर गंभीरता से विचार किया गया है।

उत्तराखंड यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uttarakhand Uniform Civil Code) व्यक्तिगत नागरिक मामलों में महिलाओं को समान अधिकार दिलाने पर खास जोर देता है।

1.राज्य में निवास करने वाले सभी नागरिकों के व्यक्तिगत नागरिक मामलों को नियंत्रित करने वाले प्रासंगिक कानूनों को सरल एवं मजबूत बनाना।
2.वर्तमान में प्रचलित कानूनों में संशोधन करना। विवाह और तलाक, संपत्ति के अधिकार और उत्तराधिकार, बच्चा गोद लेने, रखरखाव और संरक्षण के संबंध में मौजूदा प्रचलित कानूनों में एकरूपता लाना।

UCC Kya Hai Hindi: उत्तराखंड ‘यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uttarakhand Uniform Civil Code)‘ लागू करने वाला देश का पहला राज्य बनने जा रहा है।

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश में समान नागरिक संहिता (Saman Nagrik Sanhita) लागू करने का वायदा किया था।

मार्च 2022 में राज्य मंत्रिमंडल की पहली बैठक में ही इसके लिए समिति गठित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई थी।

यूसीसी (UCC) ड्राफ्ट तैयार करने के लिए 27 मार्च, 2022 को विशेषज्ञ समिति का गठन किया गया था।

रिटायर्ड जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई जी के नेतृत्व में बनी पांच सदस्यीय कमिटी में रिटायर जज प्रमोदी कोहली जी, सामाजिक कार्यकर्ता मनु गौर जी, रिटायर आईएएस अधिकारी शत्रुघ्न सिंह जी और दून विश्वविद्यालय की कुलपति सुरेखा डंगवाल जी शामिल हैं।

इस आर्टिकल में आपने जाना UCC Kya Hai Hindi । Uttarakhand Uniform Civil Code । About UCC Uttarakhand In Hindi । Uttarakhand UCC Hindi News Saman Nagrik Sanhita Matlab

यह भी पढ़ें: लाभ उठाइए, कामयाब बनिए!

Leave a Comment